mahakali uchhatan pryog

महाकाली साधना का सनातन धर्म में काफी महत्त्व है. इनके स्वरूप की कल्पना करने से ही शरीर में सिहरन सी होने लगती है. ये साधना तीक्ष्ण प्रभाव से युक्त होती है और साधक के मूलाधार चक्र से जुड़ी होती है. माना जाता है की इनकी साधना में कई कठिन नियम होते है जिनका पालन करना जरुरी होता है और इसके अभाव में महाकाली साधना के दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते है. यही वजह है की इस साधना को पूरा करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है. आइये जानते है माँ काली की साधना से जुड़ी कुछ खास बाते और उच्चाटन प्रयोग के बारे में.

महाकाली शमशानी साधना एक खास साधना में से एक है जिसमे साधना को शमसान में संपन्न किया जाता है. जो लोग गृहस्थ होते है उन्हें इस साधना के लिए मनाही की जाती है क्यों की इस साधना से जुड़े कई नियम ऐसे है जिन्हें गृहस्थ व्यक्ति नहीं कर सकता है. दस महाविद्या में से एक महाकाली सिद्ध साधना तुरंत प्रभाव और फल देने वाली साधना में से एक है जिन्हें कर आप शत्रु दमन, धन वैभव प्राप्त कर सकते है.

Follow us on Google News
ADVERTISEMENT
  • Trending
  • Comments
  • Latest